बस्तर में लघु उद्योग की पक्षधर सरकार बड़े उद्योगों के पक्ष मे नहीं, वनोपज आधारित उत्पादों को प्राथमिकता देगी सरकार : लखमा..

रायपुर। छत्तीसगढ़ के उद्योग मंत्री कवासी लखमा का कहना है कि हम बस्तर में बड़े उद्योगों के पक्ष में नहीं हैं, पहले छोटे उद्योग लगेंगे, बस्तर में होने वाले वनोपज के मुताबिक उद्यम लगाए जायेंगे।

आज प्रेस क्लब में आयोजित “प्रेस से मिलिए” कार्यक्रम में आबकारी एवं उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने कहा कि हमारी सरकार ने घोषणा पत्र में जो वादे किए थे, उसे हम पूरा करने जा रहे हैं, वहीं उन्होंने शराबबंदी पर कहा कि हम समाज के सभी वर्गों से मिलकर एक कार्यक्रम करने जा रहे हैं ताकि हम शराबबंदी को समझ सके। बस्तर क्षेत्र में लघु उद्योग को बढ़ावा देने के लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा ताकि क्षेत्र के लोगों की आर्थिक स्थिति मजबूत हो सके।

बस्तर में धर्मांतरण से किया इंकार


भाजपा की प्रदेश प्रभारी डी पुरंदेश्वरी के धर्मांतरण संबंधी बयान पर मंत्री कवासी लखमा ने निशाना साधते हुए कहा कि पुरंदेश्वरी हैदराबाद से हवाई जहाज से आई है, उन्होंने व्हाट्सएप में आयी खबरों को ही देखा है। पुरंदेश्वरी ने बस्तर का क्षेत्र नहीं देखा है। बस्तर में कांग्रेस सरकार के आने के बाद कोई भी धर्मांतरण नहीं हुआ है। यहां के आदिवासी बहुत संगठित हैं। लखमा ने कहा कि भाजपा के लोग नहीं बोलेंगे तो नागपुर से डंडा पड़ेगा, इसलिए RSS की बातें कर रही हैं पुरंदेश्वरी।

गौरतलब है कि कल पुरंदेश्वरी ने धर्मांतरण के मुद्दे पर बयान दिया था, और बस्तर में धर्मान्तरण से आदिवासी संस्कृति पर आक्रमण होने के आरोप लगाए थे। मंत्री कवासी लखमा ने कहा कि हमारी सरकार ने घोषणा पत्र में जो वादे किए थे, उसे हम पूरा करने जा रहे हैं, वहीं उन्होंने शराबबंदी पर कहा कि हम समाज के सभी वर्गों से मिलकर एक कार्यक्रम करने जा रहे हैं ताकि हम शराबबंदी को समझ सके। बस्तर क्षेत्र में लघु उद्योग को बढ़ावा देने के लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा ताकि क्षेत्र के लोगों की आर्थिक स्थिति मजबूत हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *